लव जेहाद: क्यों, कैसे, नुकसान और बचाव क्यों?


लव जेहाद: क्यों, कैसे, नुकसान और बचाव क्यों?

 

भारत  में जब इस्लामी सेनाए हमला करने को तैयार ना होती थी क्यों की आर्य  भूमि  से इस्लामिक सेनाए जिंदा वापस नहीं जाती थी , उस वक्त भारत के  मंदिरों से  ज्यादा भारत की औरतो का लालच दे कर जेहादी नेता अपनी सेनाओ को  मना पाते थे  भारत पर हमला करने के लिए | “औरतो की लूट” नामक एक किताब तक  लिखी जा चुकी  हैं जिसमे…  दिल देहला देने वाले आकडे हैं मुसलमानों द्वारा हिंदू स्त्रियों  को लूट  के सामान की तरह ले जाने के लिए | उन आकडो से तो सिर्फ यही साबित  होता हैं  के अफगानिस्तान और तुर्की की ९० फ़ीसदी आबादी हिंदू औरतो से ही  पैदा हैं |  समय बदल गया हैं, आज औरतो को मुस्लमान एक गैर इस्लामिक देश में  ऐसे ही  उठा के नहीं ले जा सकते बंगलादेश या पाकिस्तान की बात अलग हैं |  भारत में  या यूरोप में इन्होने अलग तरीके अपना रखे हैं गैर मुस्लमान औरतो  से बच्चे  पैदा कर के इस्लाम को बढ़ाने के | तो यहाँ शुरू होता हैं लव जेहाद  |

 

कैसे?

१. मुस्लिम लडको को मौलवियो व अन्य इस्लामिक संगठन  द्वारा हिंदू लडकियो  को फ़साने को ना केवल प्रोत्साहित किया जाता हैं अपितु  इनाम के तौर पर या  कहे घर बसाने के नाम पर बड़ी रकम भी रखी जाती हैं | ये  रकम जेहाद के नाम  पर, जकात के नाम पर, जिज्या के नाम या आपके द्वारा  पेट्रोल पर दी हुई रकम  से ली जाती हैं |

२. कम से कम ४-५ लड़के (ज्यादा  भी हो सकते हैं ) आपस में मिल के हिंदू  लडकियो को चुनते हैं फ़साने के लिए |  मुस्लमान हमेशा समूह में रहते हैं  अपने कायर स्वाभाव की वजह से इसलिए उन  हिंदू लडकियो को बचाना इतना सरल  नहीं होता |

३. ये लड़के गर्ल्स कालेज  के बाहर, कंप्यूटर संसथान के बाहर या अंदर,  या कोचिंग संस्थानों के आसपास  रहते हैं | कभी-२ लेडिस टेलर की दुकान पर  ४-५ लड़के लगे ही रहते हैं |  इन्टरनेट पर सोशल नेटवर्क से लेकर याहू चैट  रूम तक हर वो जगह जहा इन्हें  हिंदू लड़किया मिल सकती हैं वहा ये लगे रहते  हैं घात में |

४. ज्यादातर  मौको पर ये लड़के खुद को हिंदू ही दिखाने का प्रयास करते  हैं | अच्छा  मोबाइल सेट, कपडे, वा मोटर साइकिल आकर्षण के तौर पर इनका  हथियार होते हैं |  जिम में घंटो कसरत भी ये लोंग इसी लिए करते हैं ताकि  अधिक से अधिक हिंदू  लड़किया फसा सके |

५. दक्षिण भारत में तो मुल्ला मौलवी इन लडको के लिए  पर्सोनालिटी  डेवेलोप्मेंट कोर्से चलवा देते हैं | किस तरह बात की जाए  लडकियो से ,  उन्हें कैसे तोहफे दिए जाए | और किस प्रकार सेक्युलर बन कर  उनसे सिर्फ  प्यार मोहब्बत की बात कर के खूबसूरत सपने दिखाए जाए |

६.  फिल्म उद्योग में बढते खान मेनिया से ये अब और भी सरल हो गया हैं |   ज्यादातर हीरो खान होते हैं ऐसी मानसिकता लड़कियों में तेजी से बढ़ रही  हैं  जो की समाज के लिए बहुत की घातक हैं |

७. अगर हिंदू लड़की निश्चित समय  में नहीं फसती तो लव जेहादी अपने किसी  दूसरे मित्र को उसके पीछे लगा देता  हैं और खुद किसी और के पीछे लग जाता  हैं | इसे लड़की फॉरवर्ड करना कहते हैं  |

८. जल्द ही ये लड़के भोली भाली हिंदू लडकियो को अपने प्यार के जाल  में  फसा लेते हैं | उनमे से कई तो शारीरिक सम्बन्ध भी स्थापित कर लेते हैं |   ज्यादातर घटनाओ में मुस्लिम लड़के वाईग्रा का इस्तेमाल करते हैं ताकि   लड़किया संतुष्ट रहे और उनके खानपान से आई नापुसकता छुपी रहे |

९. एक  बार लड़की से सम्बन्ध स्थापित हो गए तो लड़की को घर से भागने के  लिए मनाने  में इन्हें देर नहीं लगती | कही बार ये पहले भी मना लेते हैं पर  ऐसा कम ही  होता हैं |

१०. भगा के लड़का लड़की को शादी से पहले इस्लाम कुबूल करने  पर मजबूर  करा लेता हैं इस्लामी तरीके से शादी के नाम पर और लड़की फस जाती  हैं जाल  में क्यों की लड़की को वापस जाने की बात तो दिमाग में आती ही नहीं |

११.  लड़की को भगा के इस्लामिक शादी कर ले जाने के बाद लड़की के साथ  निम्न में  से एक घटना होती हैं क ) लड़का लड़की का पूरी तरह भोग कर के  उसके शहर से  चार पाच सौ किलोमीटर दूर बेच देता हैं किसी अधेड उम्र के  मुस्लमान आदमी को  जिसको उसकी बदसूरती की वजह से औरत नहीं मिली होती या उसे  बस औरतो का शौक  होता हैं | यानि लड़की को वैश्या व्रती के दल दल में डाल  देता हैं |

ख ) लड़की को पता चलता हैं के लड़का पहले से ही २-३ शादिया करे बैठा हैं | और उसे भी नकाब में बंद एक कमरा मिल जाता हैं |

घ  ) लड़की की किस्मत अच्छी होती हैं और वो उसकी पहली बीवी ही निकलती हैं |   इस पारिस्थि में लड़की नकाब में तो कैद होती हैं पर उसे अपने २-३ सौतनो  का  इन्तेज़ार करना पड़ता है | और लड़के की गुलाम बन कर रह जाती हैं क्यों  की  वो इस्लाम कुबूल कर चुकी होती हैं और इस्लाम में औरत को तलाक का कोई  अधिकार  नहीं होता

 

नुकसान

१. एक हिंदू लड़की के भागने से कम से कम ८ हिन्दुओ की हानि होती हैं |

२.  जो लड़की भागती हैं वहा एक , जिसके साथ भागती हैं उसके लिए कम से कम  ४  बच्चे पैदा करती हैं , अगर वहा लड़की ना भागती और किसी हिंदू के साथ  शादी  करती और वहा समझदार होता तो कम से कम ३ बच्चे पैदा करता इस प्रकार  १+४+३=८  हिन्दुओ का नुकसान होता हैं |

३. अब जरा अनुमान लगाइए के ८ हिंदू अगले  पच्चीस साल में ३ बच्चे भी  पैदा करते तो २४ और वो अगले पच्चीस साल में ७२  इस प्रकार सौ साल में ४३२  हिन्दुओ का नुकसान होता सिर्फ एक हिंदू लड़की के  जाने से |

४. वही एक मुस्लमान एक हिंदू लड़की भागने पर उस से ४ बच्चे  पैदा करता  हैं वो ४ अगले पचीस साल में १६ बच्चे पैदा करते हैं वो १६ अगले  पचीस साल  में ६४ बच्चे पैदा करते हैं इस प्रकार ५१२ मुसलमानों की वृधि होती  हैं |

५. अब जोडीये जरा ४३२ + ५१२ = ९४४ हिन्दुओ का नुकसान सौ साल में  बिना  किसी तलवार के जोर के और कहने को इस्लाम दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ने   वाला मजहब |

६. इन्टरनेट पर उपलब्ध आकडो के अनुसार हर साल १ लाख से ऊपर  हिंदू  लड़किया मुस्लिम लडको के साथ भाग रही हैं तो अब जरा गुना करिये ९४४ *   १००००० = ९४४००००० यानि नौ करोड़ चौवालीस लाख का अंतर बैठेगा सिर्फ एक साल   में हिंदू लड़कियों के भागने के नुकसान पर अगले सौ सालो में | ये आकड़ा   बड़ा जरुर लगता होगा पर इसमें मृत्यु दर, नापुसकता दर , वा अन्य घटी भी लगा   ले तो भी ये अकडा करोड़ों में ही रहेगा |

७. इस आकडे के अनुसार अगर  सिर्फ २० साल मुस्लिम इसी दर से लव जेहाद का  अभियान चलाते रहे तो उनकी  आबादी में कितनी वृधि होगी इसका अनुमान आप खुद  ही लगाइए यानी आने वाले समय  में हिन्दुओ का सुपडा साफ़ हो जाएगा सिर्फ इस  छोटे से लगाने वाले बड़े  हथियार से | लड़किया दोनों समुदायों में कम हैं  पर हिंदू आबादी पर हो रहे  इस विशेष तकनिकी हमले की वजह से हिंदू वृधि दर  को नकारात्मक में जाने में  देर नहीं लगेगी |

८. जो हिंदू ८०० सालो की जबरदस्त मार काट के बावजूद ८०  करोड़ बचा हुआ  था वो मात्र २० साल के निरंतर एक दर के लव जेहाद से अगले सौ  सालो में  लुप्त होने की कगार पर पहुच जाएगा | जैसे आज यहूदियो का हाल हैं |

१.  लड़की के पालन,पोषण शिक्षा पर हिंदू मा-बाप कितना खर्च करते हैं पर जब   हिन्दुओ को अपनी कौम को बढ़ाने का वक्त आता हैं तो मुस्लिम लड़के हिंदू   लडकियो को ले उड़ते हैं | ये तरीका मुसलमानों को खुद के बच्चे पैदा कर के   उन्हें पाल पास के बड़ा करने से भी सरल हैं , पका पकाया खाने का सरलतम   तरीका हैं लव जेहाद |

 

बचाव

१. लड़कियों को बचपन से ही वैदिक धर्म  के मूलभूत सिद्धांत और इस्लाम की  कार्य निति समझा दीजिए | ये कार्य आप  अपने बच्चो को खाने के टेबल पर भी  सिखा सकते हैं | बच्चो को बाल सत्यार्थ  प्रकाश और किशोरों को सत्यार्थ  प्रकाश पढ़ने को अवश्य दे |

२. किसी भी प्रकार से किसी भी मुस्लिम को घर के अंदर मत घुसने दे |

३.  अगर कोई मुस्लिम लड़का आपकी लड़की के आसपास फटक रहा हैं तो फ़ौरन  कारवाही  करिये | यदि खुद आप समर्थ नहीं तो अपने सर्वप्रथम अपने क्षेत्र के  लोगो की  उसके बाद वजरंग दल , विश्व हिंदू परिषद , राष्ट्रीय स्वं सेवक  संघ , आर्य  समाज , या अन्य किसी भी हिंदू संगठन की मदद ले |

४. पुलिस से सहायता लेने में भी ना चुके |

५.  अपनी लड़की से खुल के बात करे अगर उसका कोई हिंदू प्रेमी हैं तो उसे  घर पर  बुला कर मिले | इस बात से निश्चित हो जाए के वो हिंदू हैं | व्यस्त  लड़की  पर मुस्लिम जेहादी जल्दी सफलता नहीं पा पाते |

६. अंतर जातीय शादी को अब  मान्यता दे | ये देखे के लड़के का चरित्र  कैसा हैं और वो करता क्या हैं ना  की उसका उपनाम | किसी भी जाती का हिंदू  एक मुसलमान से हज़ार गुना बहेतर  हैं क्यों की उसके पूर्वजो ने अपना शौर्य  दिखा के अपने धर्मं को नहीं छोड़ा  |

७. दहेज ना ले, ना दे और लड़की की जल्द से जल्द शादी करा दे |

८.  मुसलमानो का आर्थिक बहिष्कार करे | और अपने क्षेत्र के लडको को उनकी   लड़कियों से शादी करने को प्रेरित करे | ये बदले की भावना से नहीं बल्कि   सुरक्षा की भावना से करे | इस से उस मुस्लिम लड़की का भी उद्धार होगा |

९.  मुस्लिम लड़का हिंदू होने को भी तैयार हो सकता हैं | पर अक्सर ऐसे  मामलो  पर भरोसा ना करे | इस्लाम में काफिरो यानि गैर मुसलमानों से झूठ  बोलना जायज  हैं इसे तकिया कहा जाता हैं | लड़का सिर्फ लड़की फ़साने के लिए  ऐसा नाटक  कर सकता हैं इसलिए जोखिम मत उठाये |

१०. अगर कोई मुस्लिम इस प्रकार की  घटना में हिंदू मुस्लिम एकता का  हवाला दे तो उस से पूछियेगा के क्या वो  अपनी बहन की शादी किसी हिंदू से  करा रहा हैं | हिंदू मुस्लिम एकता सिर्फ  हिंदू लड़कियों की शादी मुस्लिम  लड़को से शादी करने से तो नहीं आयेगी इसमें  उन्हें भी बराबरी का सहयोग  देना होगा |

११. अगर लड़की भाग भी गई हैं तो  उसे वापस लाने में संकोच ना करे |  इसमें कोई शर्म की बात नही बल्कि लड़की  को वापस लाने से आप अपनी गलती  सुधारेंगे | हिंदू संगठनो में वा आर्य समाज  के माध्यम से आपको ऐसे बहुत से  राष्ट्र भक्त युवा मिल जाएँगे जो उन लडकियो  को स्वीकार करने को तैयार हो  जाएँगे |

१२. कम से कम ३ बच्चे अवश्य पैदा  करे और ये जान ले की लडकिया समाज का आधार  हैं | उनसे ही कौम आगे बढ़ेगी  इसलिए भ्रूण हत्या के खिलाफ आन्दोलन में  जागरूक रहे |

Advertisements

About Fan of Agniveer

I am a fan of Agniveer

Posted on August 29, 2011, in Views. Bookmark the permalink. 1 Comment.

  1. manniy mahoday ji , yah silsila chalta rahega 1 usko rokna bahut mushkil hai , hidu samaj ne islam ko ek dharm ki manyta dedi hai , jab ki vah matr gundo ke giroh bhar hai !agar hindu samaj me mans ka vyvhar nahi hota to to hindu kanyaye muslimo se nikah nahi karti jabb yahan mans khati to vahan khane me kya antar hai ! jaise apna dharm vaisa hi unka dharm 1 jab tan hindu samaj mans khana nahi chodega , islam ko majahab ke bajaye ek giro ki samajh nahi paida hogi 1 sinema usyog ka kayakal nahi hoga ! tab tak “lave jehad “kaise roka ja sakega ! aj jamana svay pyar karne ka bhi aa chuka hai usme buddhi ke bajaye dil ka jhukav par jyada dhayan diya jata hai , usi ka yah sab fal hai ! hamre hyderabad me n jane kitni kanyaye muslim ban rahi hai hamne paas karib 200 se jyad kanyao ke muslimo se nikah karne bad ke pate maujud hai ab ham kya karlenge ! ary samaj v.h.p. sangh ke netao se anek bar mile !lekin kuch bhi sunvai nahi hui ! hamne svayam kisi samay me dilli me 2-3 sal tak jo hindu kanyaye muslimo se vivah karne ke liye rajistrar[adalti vivah] cort marriage karne ke liye apna nam ka avedan patr deti thi to ham vahan se unke hindu ghar ke pate lekar unke parivar me ja kar us kanya ka bhandafod parivar ke bich me karte the arthat unke parivar valo ko uski jankari de diya karte the ! usse kam se kam ham 50% hi safalta un vivaho ko rokne me kar paye baki to sex ki takat ke karan bhavna vash muslim un kanyao ko bagakar le gaye ya kanyaye svaym bhag gai ! bad me bhi jab un kanyao se mulakat hui tab unko bhi muslimo ke karnamo se ankhe khuli lekin ab kya hota ! kuch vapas hui kuch ne haalt se samjahuta kar liya ! ab kya kiya jaye !kuch hindu sansthaye muslim parivesh ki filme banaye jisme vah kisi hindu ladko se pyar ke seen ho ! jaise aaj hindu abhinetriya MUSLIMO SE VIVAH KAR LETI HAI TAB USKA ULTA BHI HO JAYEGA ! MAHAUL BADALNA HOGA ! hinduo me mans khane ka virodh karna hoga 1 aise sanskar dene honge , islam ke viruddh prchar ka jordr abhiyan bhi chalana hoga ! tabhi kuch ho sakega ! ap yah bhi dekhiye jab babri masjid to di ja rahi thi desh bhar me dange ho rahetab advani ji ki bhatiji kisi muslim se nikah kar rahi thi ! isse sharmnak bat kya hogi? advani ji ne kya kar liya v.h.p ne kya kar liya jab unko nahi roka ja saka tab samany janta ki kaun fikar karta hai !kisko hindu ki fikar hai ,kisko desh ki fikar hai , sabhi ko pad v dhan chahiye sabhi usme ham sahit usi ke liye pagal huye ja rahe hai ! lekin muslim kuch samajik kary bhi apne majahab ke liye karta hai ! lagatar gram -gram ja kar kuran ka sandesh namaz padhane ka tarika muslimo ko sikhlata hai ! kitne hindu yah sab karte hai ? is desh ko barbad karne me arya samaj ka bahut bada yogdan ha jo prchar ajadi ke pahale aya samaj karta tha vah sab band kar diye gaye ! jitni bhi buraiya is hindu samaj me fail rah hai uske viruddh ary samaj kyo nahi abhiyaan chlata ?aj arya samaj ke kuch karykarta apsa me hi sanghars karke arya samaj ko barbad karne me hi agrsar ho rahe hai ! tab kaun hindu samaj ka bhala kar sakega !

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: