SAY NO TO RAPE


say no to rape

उत्सक्थ्या अवगुदं धेहि समंजिं चारया विशन्। य: स्त्रीणां जीवभोजन:॥
(यजु.23.21)

हे शक्तिमान राजन् (विशन्) जो पापी लोग स्त्रियों के साथ व्यभिचार एवं बलात्कार करके उनका जीवन नष्ट करने वाले हैं उन्हें पैर ऊपर और सिर नीचे करके उल्टा लटका कर ताडन करना चाहिये और इस प्रकार अपने राष्ट्र में न्याय का संचार करना चाहिये।

Its utmost duty of the King or Ruler to punish those Sinners (Rapists) who destroys the life of a women by Illicit conduct or Rape by hanging them upside down and by beating them so that Morality, Peace and Justice prevail in his kingdom – Yajur Veda 23:21

Advertisements

About Fan of Agniveer

I am a fan of Agniveer

Posted on December 23, 2012, in Famous quotes. Bookmark the permalink. 3 Comments.

  1. budhpal singhchandel

    ॐ.
    मित्रो,
    ,कौन करेगा इसे विचारणीय प्रश्न है ,कांग्रेसियों का अधिकांश कुनबा ही बलात्कारी है ,और यह प्रशंग उनके इतिहास के अंग माने जाते है ,अबतो इन सब बिक्रतियो का समाधान इनके अंतर्ध्यान होने बाद ही किया जा सकता है ,तभी अंग्रेजी ब्याबस्थायो को बदल क्र स्वदेसी भारतीय ब्याबस्थायो को ला क्र भारत की गौरब्मायी बहनों /बेटियों की लाज बचई जा सकती है ,इनके रहते हम कुछ समाधान नहीं ला सकते .कल के पुलिश द्वारा किया गया बीभत्स कांड इसका जीता जगता उदहारण है ,और शर्म की बात है , की देश के सर्वोच्च पदों पर आसीन आदरनीय महामहिम श्री मुर्ख जी एबम डॉ मंद मोहन सिंह ऐसे चुप-चाप घोर निद्रा-मग्न होगये जानो यह दुसरे देश पर राज्य कर रहे हों, ,जिन्हें जनता,एबम पिट ती बहन बेटी या बहरी मालूम हो रही है ,और इनके मुह से एक सब्द भी स्वन्तना में नहीं निकले न इनोने पुलिश को रोकने या हिदायत देने का प्रयाश किआ ,आखिर इतनी मो टी -मो टी तानुखाहे ब बीरा ट बंगले क्या सिर्फ ऐशो-आराम के लिए दिए गये है ,इनका देश के अमन-चमन-बिषम-परिस्थिति से कोई लेना -देना नहीं है ? ,अजब-गजब है यह भारत देश ,देश की जनता बेहद शर्मिंदगी महशुश क्र रही है ,जहा बहन बेटियों की इज्ज़त लुटी जा रही हो ,और बिरोध करने पर लाठिया,ठन्डे पानी की बौछारे उन पर फेकी जा रही हो ,जैसे बे किसी दुसरे पराजित देश की हों |हद होगई अब तो पानी सर के उपर बहने लगा है ,जागो/उठो और इन आत तयियो को अंतर्ध्यान क्र बहन-बेटियों की रक्षा क्र भारत बचने के लिए सब संगठित होकर मुकाबला करो ,नहीं तो …………इतनी….देर होजाएगी…….की ……?????
    वन्देमातरम/जय हिन्द|

  2. इस मंत्र का यह अर्थ कैसे किया .. यहाँ स्त्रियों में जो जीवभोजन अर्थात व्याभिचारी है न कि बलात्कारी, उसे दंड देने की बात कही है ।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: